Olympic 2020: Cricket Olympic me kyu nhi khela jata hai.

Olympic 2020: Cricket Olympic me kyu nhi khela jata hai-.


 Cricket Olympic me kyu nhi khela jata hai 

यह जानने से पहले हम क्रिकेट के प्रसिद्धि के बारे में जानते है।

Cricket आज  की तारीख में काफी popular game है जिसकी popularity दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। 16th centuary में england में शुरू हुआ यह game  आजकल 100 से ज्यादा देशों में खेला जाता है।

 India में तो cricket इतना ज्यादा popular है कि इसे एक festival ही माना जाता है तो आखिर cricket दुनिया की सबसे बड़ी sports event  olympics का हिस्सा क्यों नहीं है cricket सिर्फ एक बार ही यह नाइंटी हंड्रेड के  olympic में खेला गया था और उसके बाद आजतक cricket  Olympic का हिस्सा नहीं बन पाया तो आज  के पोस्ट  में हम कुछ  कारणों को देखेंगे जिनकी वजह से cricket को Olympic sport नहीं माना जाता है।

 India ने आज तक Olympic में सिर्फ नौ गोल्ड मेडल जीते हैं लेकिन एक ऐसा खेल भी है जो अगर Olympic  में खेला जाए तो India की गोल्ड मेडल जीतने के चान्सेस काफी ज्यादा बढ़ जाएगा और यह खेल है cricket

Cricket Olympic me kyu nhi khela jata hai.

           

cricket आख़री बार नाइनटीन  हंड्रेड में यानी की मॉडर्न Olympic के सेकण्ड एडिशन  में खेला गया था रिसेंटली इंटरनेशनल cricket काउंसिल यानी ICC ने cricket को एक Olympic sport बनाने में इंटरेस्ट दिखाया है लेकिन cricket को Olympic में न होने के पीछे कई सारे रीज़न हैं ।

No.1

                         पॉपुलैरिटी


 cricket India ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के अलावा किसी और बड़े देश  में नहीं खेला जाता है अमरीका चाइना जापान और कई सारे  यूरोपियन कन्ट्रीज में cricket का पॉपुलैरिटी काफी कम है और यह वही कन्ट्रीज है जहाँ पर ओलिम्पिक सबसे ज्यादा देखा जाता है भले ही आज दुनिया में करीब एक बिलियन से ज्यादा cricket मैचों के फैंस है लेकिन cricket एक ऐसा खेल हैं जिसका डोमिनेंट सिर्फ कुछ कन्ट्रीज में ही है। फुटबॉल की तरह यह वर्ल्ड वाइड टीम नहीं है। इसी वजह से cricket को ओलिम्पिक में नही रखा गया।

No.2

                       समय।


Olympic पंद्रह दिनों का sporting इवेंट होता है इन्हीं पंद्रह दिनों में करीब अलग अलग 28 sport खेले जाते हैं लेकिन cricket ऐसा खेल है जो बाकी खेलों से काफी अलग है । यह इसलिए क्योंकि आज cricket तीन फॉर्मेट में खेला जाता है टेस्ट मैच वनडे इंटरनेशनल और टी ट्वेंटी अगर हम सबसे छोटे फॉर्मेट यानी टी ट्वेंटी की बात करें तो एक टी ट्वेंटी मैचों को पूरा होने में करीब चार घंटे लगते हैं अगर Olympicस में दस टीम भी पार्टिसिपेट करती हैं तो सारी टीम्स के मैचेस कराने में काफी ज्यादा टाइम लग जाएगा।

Time
Time

 कई बार इसका सल्यूशन यह भी दिया जाता है कि cricket का एक और फॉर्मेट T-10 किया जाना चाहिए इससे दुनियाभर में cricket की पॉपुलेरिटी बढ़ेगी और cricket Olympic sport की डेफिनेशन में भी फिट होगा।

No.3

                       stadium


 cricket stadium और पिच को मेंटेन करना काफी इम्पोर्टेंट होता है और हर कंट्री में अच्छे stadium्स नहीं होते हैं और सिर्फ यही नहीं मेंटेन करने के साथ ही हर गेम के पहले cricket पिच को  प्रीपेयर करना पड़ता है।
Stadium olympic
Olympic 2020:stadium


 अगले तीन Olympic होने वाले हैं टोक्यो पेरिस और लॉस एंजिल्स में यानी की जापान फ्रांस और अमेरिका में यह तीनों कन्ट्रीज में cricket एक मुख्य  sport नहीं है इसलिए यहाँ पर वर्ल्ड क्लास stadium और पिच नहीं है अगर cricket के लिए भी Olympic्स में नए stadium बनाया जाए तो Olympic्स का बजट जो पहले से ही काफी ज्यादा होता है और बढ़ जाएगा इसलिए Olympic सिटी को cricket मैच होस्ट करना फायदे से ज्यादा नुकसान का काम होगा।

 No.4

                          सपोर्ट


 आईसीसी पिछले कई साल से cricket को Olympic स्कोर बनाना चाहता है लेकिन इसके लिए आईसीसी को कई कन्ट्रीज के cricket बोर्ड का साथ चाहिए और इन्हीं cricket बोर्ड्स में से एक है BCCI यानी बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर cricket इन India जब तक आईसीसी को BCCI का  साथ नहीं मिलता तब तक cricket का Olympic sport बनना इम्पॉसिबल है।

 यहाँ पर BCCI का इम्पोर्टेंस काफी ज्यादा है क्योंकि cricket से जितना भी प्रॉफिट जनरेट होता है उसमें लगभग 60 परसेंट कंट्रीब्यूशन India का ही है और BCCI cricket को Olympic्स का हिस्सा नहीं बनना चाहता क्योंकि ऐसा होने पर BCCI की कई सारी पावर खत्म हो जाएगी और BCCI पूरी तरह एक इंडिपेंडेंट बॉडी नहीं रहेगा यह सारी पावर इंडियन Olympic असोसिएशन को मिल जाएगी India में cricket को इतना पॉपुलर बनाने के पीछे BCCI का ही हाथ है और cricket की हालत भी हॉकी की तरह हो जाए ऐसा कोई भी नहीं चाहेगा। और भी कई कारण है। जिसकी वजह से क्रिकेट को olympic में नही रखा गया है।

अगर cricket Olympic का हिस्सा बन भी जाता है तब भी cricket वर्ल्ड कप जीतने की वैल्यू एक Olympic गोल्ड से ज्यादा ही होगी यह इसलिए क्योंकि वर्ल्ड कप में ज्यादा टीम होती है जिससे कॉम्पिटीशन बढ़ता है और साथ ही वर्ल्डकप मैचेस काफी प्रोफेशनल stadium और पिच पर होते हैं आईसीसी का cricket को Olympic sport बनाने के पीछे सिर्फ एक ही कारण है cricket को ज्यादा  से ज्यादा देशों तक पहुंचाना।

पोस्ट पढ़ने के लिए धन्यवाद।


Olympic 2020: Cricket Olympic me kyu nhi khela jata hai. Olympic 2020: Cricket Olympic me kyu nhi khela jata hai. Reviewed by Juniorblogger.com on December 26, 2019 Rating: 5

No comments:

Thanks for comment

Powered by Blogger.